Hot Woman Sex Kahani – होटल में बुलाकर जोरदार चुदाई करवायी

| By admin | Filed in: Hindi Stories.
हॉट वुमन सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक लेडी ने मुझे होटल में बुलाया सेक्स के लिए. लेकिब उसने मुझे ही काबू कर लिया और अपनी मर्जी से अपनी चूत चुदवायी.

दोस्तो, मेरा नाम नवीन चौधरी है. मैं आगरा में रहता हूँ. मैं अन्तर्वासना का एक नियमित पाठक हूँ. मेरे लंड का साइज 7 इंच है.

ये हॉट वुमन सेक्स कहानी पिछले साल की है, मेरे पास एक लड़की मैसेज आया … तो कुछ देर उससे बात हुई और हमारी मीटिंग एक होटल में फ़िक्स हो गयी.

उसका नाम सरला था, उम्र 35 साल थी.

हम दोनों एक तयशुदा होटल में मिले. जब मैंने उसे देखा तो देखता ही रह गया. सरला के बड़े बड़े 36 इंच के मम्मे थे और उसकी गांड भी काफ़ी बड़ी थी.

ऐसी महिला मुझे पहली बार मिली थी. मैं तो उसे देखते ही उसका दीवाना हो गया था.

उसने मुझसे हाय कहा और हमारी एक मिनट तक होटल की लॉबी में ही बात हुई.

फिर उसने मुझसे कहा- चलें.
मैंने हां में सर हिला दिया.

हम दोनों रूम में आ गए. वो कमरे में आते ही बाथरूम में फ़्रेश होने चली गयी और मैं नर्म मुलायम बिस्तर पर लेट गया.

दस मिनट बाद वो बाथरूम से बाहर आई तो उसने पीले कलर की बेबी डॉल पहन रखी थी.
वो अपनी इस ड्रेस में गांड मटकाती हुई किसी अप्सरा से कम नहीं लग रही थी.

अपनी गांड मटकाती हुई वो सोफे पर बैठ गई और आते ही उसने अपने बैग में से एक स्कॉच की बोतल निकाल ली.
उसने दो गिलासों में पैग बनाए. पैग बन जाने के बाद उसने मुझे आंख मारते हुए पास आने का इशारा किया.

मैं लपक कर उसके बाजू में बैठ गया.
उसने गिलास उठाया तो मैंने भी अपना गिलास उठा लिया. हम दोनों ने पहला पैग जल्दी ही खत्म कर लिया.

इसके बाद सरला ने एक मादक अंगड़ाई ली और मुझसे पूछा- सिगरेट है?

मैंने हां में सर हिलाया और अपनी जेब से गोल्डफ्लेक की डिब्बी और लाइटर निकाल कर टेबल पर रख दिया.

उसने सिगरेट की डिब्बी से सिगरेट निकाली और अपने होंठों में फंसा ली.
मैंने उसकी तरफ देखा, तो उसने आंख से इशारा किया. मैंने लाइटर से उसकी सिगरेट को जला दिया.

वो मस्ती से छल्ले उड़ाने लगी.

अब हमारे बीच बात होने लगी.

उसने पूछा- मैं कैसी लगी?
मैंने कहा- मुझे उम्मीद ही नहीं थी कि आज आप जैसी माल मेरे लंड के नसीब में लिखी होगी.

वो अपने लिए माल शब्द सुनकर हा हा करती हुई हंसने लगी.

उसने मुझे बताया कि उसके पति का 2 साल पहले एक्सीडेंट हो गया था, तब से वो अकेली है और किसी के साथ दोस्ती करके सेक्स करने का मतलब है कि अपनी प्राइवेसी को खत्म करना. फिर अलग अलग टेस्ट भी नहीं मिलता है.

ये कह कर उसने फिर से गिलास भरना शुरू कर दिया. इस बार पानी मैंने डाला और गिलास उठा कर उसे दे दिया.

वो सिप करने लगी और सिगरेट से मुँह का स्वाद ठीक करने लगी.

मैं उसको देखकर सब कुछ भूल गया था कि मैं इधर क्या करने आया था. बस मैं उसकी खूबसूरत जवानी को देखे जा रहा था.
उसकी बेबी डॉल में से झांकते उसके मम्मे मुझ पर बिजली सी गिरा रहे थे.

जल्दी ही हम दोनों ने तीन तीन पैग ले लिए थे. अब हम दोनों पर शराब का नशा होने लगा था.

अब उसने मेरी जांघ पर हाथ रखा, मेरा लंड तो पहले से ही रॉड बना हुआ था.

मैंने उसकी तरफ देखा तो उसने मेरे होंठों पर होंठ रखे और लिपलॉक कर लिया. मैंने भी मैडम का पूरा साथ दिया और होंठों से होंठों को जोड़े रहा.

हम दोनों एक दूसरे की मस्ती में खोए जा रहे थे.
यही कोई 5 मिनट तक एक दूसरे को किस करते रहे.

तभी मैंने एक हाथ उसकी एक चूची पर रखा और धीरे-धीरे दबाने लगा. वो मादक सिसकारियां लेने लगी.

फिर उसने मेरी टी-शर्ट खोल दी और बनियान भी उतार दी.

अब मैंने भी उसको फ्रॉक निकालने के लिए बोल दिया तो उसने एक डोरी खींची और बेबीडॉल को निकाल दिया.
वो काली ब्रा पैंटी में बड़ी मस्त माल लग रही थी.

उसने बड़ी अदा से अपनी ब्रा और पैंटी भी निकाल दी.
मैं तो उसे अपने सामने पूरी नंगी देख कर सोच रहा था कि मैं जन्नत की किसी हूर के सामने पहुंच गया हूं.

उसके दोनों मम्मों को मैं जोर-जोर से बारी बारी से चूस रहा था और वह मेरी पीठ पर हाथ फेर रही थी.
ऐसा करते करते हमें दस मिनट हो गए थे.

तभी मैंने उसकी चूची के निप्पल को अपने दांतों से पकड़ कर खींचा तो उसको दर्द हुआ और उसने उसी पल मेरी पीठ पर जोर से नाखून गड़ा दिए.
मुझे भी थोड़ा सा दर्द हुआ तो मैंने उसके निप्पल को छोड़ दिया.

फिर हम दोनों एकदम नंगे हो गए. मेरे सामने सरला मैडम एकदम नंगी हुई, तो वो बड़ी मस्त और मादक लग रही थी.

मैं तो जैसे भूल ही गया था कि मैं क्या करने आया था. मगर तब भी खुद ब खुद मैं वही करता जा रहा था जो वह चाहती थी.

उसने मुझे नीचे बिठा दिया और उसने अपनी चूत को मेरे मुँह पर लगा कर जोर जोर से धक्के देने लगी.

वह पहले से ही गीली थी. मैंने काफी देर तक उसकी चूत चाटी, तो वह आवाज करती हुई झड़ गई.
उसकी चूत ने मेरे मुँह में ही पानी गिराना शुरू कर दिया. मैं भी उसका सारा नमकीन पानी पी गया.
बड़ा ही टेस्टी पानी था उसका.

फिर उसने मुझे 69 की पोजीशन में आने के लिए बोला.
मैं आ गया तो वो मेरा लंड चूसने लगी और मैं उसकी चूत में मस्त हो गया.

कभी-कभी मैं अपनी जीभ को उसकी गांड पर भी टच कर रहा था.
हम दोनों को ही बड़ा मजा आ रहा था.

वो मजे से सीत्कार भरते हुए लंड चुस रही थी.
फिर हम दोनों एक साथ एक दूसरे के मुँह में झड़ गए.

उसने झड़ने के बाद एक सिगरेट सुलगा ली और मुझसे एक एक पैग और बनाने के लिए कहा.
उसने अपना पैग उठाया और मेरे पास नीचे फर्श पर बैठ गई.

उसने दारू के गिलास में मेरा लंड डुबाया और लंड चूस कर पीने लगी.
फिर उसने अपनी उंगली अपनी चूत में डाली और मेरे पैग डुबो दी.
मैं भी अपने गिलास को पी गया.

कुछ देर बाद हम दोनों फिर से गर्मा गए तो उसने मुझे बिस्तर पर लेटने को कहा.

मैं लेटा तो वो मेरे ऊपर चढ़ गई. उसने पहले एक मिनट तक मेरे लंड को चूसा और उसे कड़क करके अपनी चूत में सैट करके ऊपर बैठ गई.

लंड चूत में घुसा तो उसकी एक मीठी सी आह निकली और अगले ही पल पर जोर जोर से धक्के देने लगी.
हालांकि पहले उसे थोड़ा दर्द हुआ था … फिर उसे मजा आने लगा. अब तो वो काफी जोर जोर से झटके देने लगी.

मैं तो उसकी मदमस्त उछलती चूचियों में ऐसा खोया हुआ था कि मुझे बिल्कुल भी होश में नहीं था.
मुझे तो पता ही नहीं था कि उसने मुझ पर क्या जादू कर दिया था.
इस वक्त उसने मुझे अपने काबू में कर लिया था. वह जो चाह रही थी, मैं वही कर रहा था.

कुछ देर लौड़े की सवारी करने के बाद वह नीचे आ गई और मैं उसके ऊपर चढ़ गया.

उसने जल्दी से मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत में फिट किया और मुझको धक्के देने का कह दिया.
मैं उसकी चूत पर मानो पिल पड़ा था और जोर जोर से झटके देने लगा था.

वो देसी कुतिया सी बिलबिलाती हुई आवाजें कर रही थी और मैं डॉबरमैन कुत्ता सा उसकी चूत को भोसड़ा बनाने पर तुला हुआ था.
उसे चोदने में सच में मुझे बड़ा मजा आ रहा था.

वो भी नीचे से अपनी गांड उठा उठा कर चूत लंड से लड़ाने लगी. इतना मजा आ रहा था कि मैं बयां ही नहीं कर सकता हूं.

ऐसे ही ताबड़तोड़ 20 मिनट की चूत चुदाई के बाद वो झड़ गई.
मगर मैं अभी भी चालू था.

इस बार मैंने उसे घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी चूत में लंड सैट करके जोर से धक्का दे दिया.
फ़च्छ की आवाज के साथ लंड चूत में पेवस्त हो गया और मैं उसके दूध पकड़ कर जोर जोर से उसे चोदने लगा.

दस मिनट बाद मैं भी झड़ गया. हम दोनों ही बेहद थक चुके थे. हमारी सांसें धौंकनी की तरह चल रही थीं.
कुछ मिनट तक हम दोनों यूं ही पड़े रहे.

फिर उसने मुझे लंड बाहर निकालने को बोला. लंड चूत से बाहर निकालते ही वह पलट गई और लंड को जोर जोर से चूसने लगी.
उसने फिर से मेरा लंड खड़ा कर दिया.

मैं तो उसकी गांड का दीवाना था … उसकी बड़ी गांड मुझे पागल कर रही थी.
मैंने उससे फिर से घोड़ी बनने को कहा.

वो गांड हिलाते हुए घोड़ी बन गई.
मैंने उसकी गांड के छेद पर जीभ लगा दी और उसकी गांड चाटने लगा.

उसे बड़ा मजा आ रहा था. वह जोर-जोर से अपनी गांड से मेरे मुँह की तरफ धक्का दे रही थी.

थोड़ी देर तक गांड चाटने के बाद मैंने लंड उसके मुँह में डाल दिया और एक बार चुसा कर गीला कर दिया.
वो गांड हिलाने लगी तो मैंने उसकी गांड के छेद पर लंड रख कर जोर से एक झटका दे दिया.

मेरा आधा लंड उसकी गांड में घुस गया. वो दर्द से कराहने लगी और चीखने लगी.
मैंने उसके मुँह पर हाथ लगा दिया और कुछ देर तक ऐसे ही चुपचाप लगा रहा.

जब उसका दर्द कम हुआ तो मैंने एक और जोर से धक्का लगा दिया. इस बार वह रोने लगी, उसकी आंखों में पानी आ गया … तो मैं रुक गया.

पांच मिनट बाद वह एकदम नॉर्मल हो गई और उसने अपनी गांड हिला कर मुझे इशारा कर दिया.
मैंने फिर से धक्के मारने चालू कर दिए.

दस मिनट तक मैं उसकी गांड मारता रहा और जब मैं झड़ने के करीब हुआ तो जोर जोर से धक्के मारने लगा.
वह समझ गई … और वह भी आगे से धक्के लगाते हुए मेरा साथ देने लगी.

दो मिनट बाद मैंने अपना गर्म गर्म माल उसकी गांड में छोड़ दिया.

वह बोली- आपने आज मुझे निहाल कर दिया.
मैंने कहा- यार सरला … मजा तो मुझे मिला है. आज पहली बार मुझे असली हॉट वुमन सेक्स का मजा मिला है.

हम दोनों कुछ मिनट तक ऐसे ही पड़े रहे. फिर मैंने उसकी चूत चाट कर साफ की … और उसने मेरा लंड चूस कर साफ कर दिया.

एक एक पैग के साथ हमने सिगरेट का मजा लिया.
वो कमरे में गांड पसार कर लेट गई और मैं निकलने को हो गया.

मैंने उससे कहा कि जब भी आपको मेरी जरूरत हो, याद कर लेना … मैं आ जाऊंगा.

मैं जाने लगा तो उसने मुझे एक किस दिया और मैं कमरे से निकल गया.

तो दोस्तों कैसी लगी मेरी हॉट वुमन सेक्स कहानी … अगर कोई गड़बड़ हुई हो, तो माफी चाहता हूं. आपके प्यार भरे ईमेल का मुझे इंतजार रहेगा.
[email protected]

Source:

নতুন ভিডিও গল্প!


Tags: , ,

Comments