Rich Girl Sex Kahani – जिम में मिली लड़की संग चुदाई का मजा

| By admin | Filed in: Hindi Stories.
रिच गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मुझे जिम में एक विवाहित लड़की दिखी. उसने मुझे स्माईल दी. हम दोनों में दोस्ती हो गयी. बात सेक्स तक पहुँच गयी.

अन्तर्वासना के सभी पाठको, आपको पंचम का नमस्कार.
मैं अहमदाबाद से हूँ, मेरी उम्र 34 साल है और मैं एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर हूँ.

ये मेरी सच्ची रिच गर्ल सेक्स कहानी है. ये सेक्स कहानी फ़रवरी 2020 की है.

मैं रोजाना जिम, योगा और रनिंग करता हूँ.
एक दिन मैं ऊपरी मंजिल पर स्थित जिम से कसरत करके नीचे आ रहा था उस समय लिफ्ट बंद ही होने वाली थी.
तभी लिफ्ट का दरवाज़ा वापस से खुल गया और मैंने देखा कि एक मस्त सी लेडी भी लिफ्ट में आ गयी.

उफ्फ़ क्या फिगर था उसका … सुबह सुबह से सामने एक गजब सी फ्रेश माल दिख गई थी. उसके बदन से मस्त ख़ुशबू आ रही थी.

मैंने उसकी तरफ देखा तो उसने मुझे देख कर एक प्यारी सी स्माइल दे दी.
मैंने भी बदले में स्माइल पास कर दी.

मुझे बड़ा अजीब सा लगा कि ऐसी मस्त भाभी को मैंने जिम में पहले कभी देखा क्यों नहीं.
बाद में मालूम पड़ा कि वो अधिकतम समय ट्रेडमिल वाले सेक्शन में ही आती थी.

खैर … अब मैं रोजाना उसको देखने लगा.
वो भी मुझे स्माइल देती थी और देखती थी.
उसको देख कर लगता था कि वो बड़े घर से है.
हालांकि मेरे लिए बड़ा कठिन था कि मैं उसे एप्रोच करूं.

ऐसे ही वक्त गुज़रता गया और मेरी उसके साथ धीरे धीरे बात होने लगी.
उसका नाम मुस्कान था.

शुरू में तो मेरी उससे जिम से रिलेटेड बातें ही होती थीं. मगर बाद में कुछ औपचारिक बातें भी होने लगी थीं.

मुस्कान के साथ बातों ही बातों में पता लगा कि उसकी उम्र 38 साल की थी.
मगर उसको देखकर मुझे ऐसा ही लगा था कि वो 28-29 साल की होगी.

कुछ दिनों बाद उसने बताया कि वो खुद एक बड़ी कंपनी में काम करती है और उसके पति बड़े बिजनेसमैन हैं.
उसके पति बहुत बिज़ी रहते थे. उसके घर में उसका एक बेटा था, जो दसवीं क्लास में पढ़ता था.

उसकी सब से बड़ी बात जो थी, वो हमेशा मुस्कुराती रहती थी.

कुछ दिनों के बाद हम जिम की कैंटीन में भी मिलने लगे, साथ में जूस पीते थे. अब तो उसकी आदत होने लगी थी. वो जिम ना आती, तो मैं भी वापस घर आ जाता था.

एक दिन हम कैंटीन में जूस पी रहे थे तो मैंने हिम्मत करके उससे पूछा- क्या हम फोन पर बात कर सकते हैं?

पहले तो उसने मुझे घूर कर देखा लेकिन कुछ बोली नहीं.
उसने बिना कोई जवाब दिए कहा- मैं चलती हूँ.

उसके इस तरह के रुख से एक बार को तो मैं डर गया कि कहीं कुछ प्राब्लम ना हो जाए.
इसी डर से मैं अगले दो दिन तक जिम नहीं गया और फिर संडे आ गया तो जिम बंद था.

उसी संडे शाम को मेरे मोबाइल पर एक कॉल आया.

मैंने कॉल पिक किया तो सामने से एक प्यारी सी आवाज़ आई- हैलो पंचम!
मैंने कहा- हां.

वो बोली- इतना डर गए कि जिम भी नहीं आते.
मैंने कहा- आप कौन बोल रही हैं?
उसने कहा- मैं मुस्कान.

मेरी तो हालत ही खराब हो गयी, मैंने पूछा- आपको मेरा नंबर कहां से मिला?
उसने हंसते हुए कहा- मैं जादूगर हूँ.

मैं सोचने लगा, तो वो फिर से बोली- जिम से लिया नंबर.
मैंने बोला कि ओके … बताइए आपने कैसे कॉल किया!

उसने कहा- मुझे लगा कि आप बुरा मान गए होगे, बस इसी लिए फोन लगा लिया.
मैंने कहा- नहीं, इसमें बुरा मानने की क्या बात है. आप मुझे नंबर दें या ना दें, ये तो आपकी मर्ज़ी है.
उसने कहा कि हम्म … आप तो काफ़ी समझदार हो!

मैं फिर से चुप हो गया.

वो बोली- आप मुझसे फोन पर बात कर सकते हो, लेकिन मैं सिर्फ़ टेलिग्राम एप्लिकेशन पर बात करूंगी और आप मुझे कॉल नहीं करोगे.
मैंने कहा- इट्स ओके.

कुछ ही देर में मैंने टेलीग्राम डाउनलोड किया और उसको रिक्वेस्ट भेज दी.
तुरंत ही उसका जवाब आ गया.

फिर तो हम बहुत बातें करने लगे. कभी कभी वो कॉल भी कर देती थी.

धीरे धीरे हम खुल कर बातें करने लगे. हम सेक्स की बातें भी करने लगे.

एक दिन उसने बताया कि वो ड्रिंक भी करती है.
मैंने कहा- ये मैंने नोट कर लिया.

वो बोली- क्या नोट कर लिया?
मैंने हंस कर कहा- आपकी ड्रिंक की आदत को.
वो हंस दी.

फिर एक दिन उसने बताया कि उसकी लाइफ में सब कुछ है, लेकिन उसके हज़्बेंड बहुत रूड हैं. वो एक ऐसे दोस्त को ढूंढ रही है, जिसके साथ वो अपनी बातें शेयर कर सके.
मैं हम्म कहा.

तो अगला सवाल करते हुए उसने पूछा- क्या मैं आप पर भरोसा कर सकती हूँ?
मैंने कहा- मैं कभी भी आपका भरोसा नहीं तोड़ूँगा.

वो मेरी बात सुन कर बहुत खुश हो गयी.

फिर दो दिन बाद शाम को उसका कॉल आया और उसने पूछा- अभी क्या कर रहे हो?
मैंने कहा- ईव्निंग वॉक कर रहा हूँ.

उसने पूछा- कौन से एरिया में हो?
मैंने कहा- मैं ड्राइव इन एरिया में हूँ.

वो बोली- मैं उधर ही आती हूँ, साथ में कॉफ़ी पीने चलते हैं.
मैंने कहा- ओके आ जाओ.

दस मिनट के बाद उसकी कार आई और उसने इशारे से मुझे बुलाया.
मैं कार में आ गया और कार चल पड़ी.

हम हाइवे पर एक रेस्तरां पर रुक गए और कॉफी ऑर्डर की.

आज वो गजब की सुंदर लग रही थी; मैंने कहा- आज तो आप बहुत सेक्सी लग रही हो.
वो बोली- इरादा क्या है?

मैंने लम्बी सांस लेते हुए कहा- इरादा तो बहुत कुछ है, लेकिन मैं कुछ भी ऐसा नहीं कर सकता, जिससे आप नाराज़ हो जाओ.
तो वो हंसने लगी और बोली- तुम बहुत डरपोक हो.
मैंने कहा- डरपोक नहीं, मैं जेंटलमैन हूँ.

मेरे इतना कहते ही अचानक से वो मेरी तरफ आई और मेरे होंठों पर किस करने लग गयी.

मैं एकदम से चौंक गया मगर मैंने उसका साथ दिया.
वो गहरी किस ले रही थी.
सच में बड़ी ही मस्त किस थी वो!
उसकी ज़ुबान पूरी तरह से मेरे मुँह में आ गई थी और मेरी ज़ुबान से लड़ रही थी.

अचानक से कार पर नॉक हुआ और हम दोनों अलग हो गए.

ये कॉफ़ी वाला था. मैंने कॉफी ली और उसने कार की विंडो वापस बंद कर दी.

वो फिर से मेरी तरफ आई और उसने मुझे फिर से किस करना स्टार्ट कर दिया.
अचानक से उसका हाथ मेरे नीचे आया और उसने मेरा लंड पक़ड़ लिया.

हम लोग पब्लिक प्लेस पर थे.
मैंने मुस्कान को रोका और कहा- पब्लिक प्लेस में ये सब ठीक नहीं है.
वो भी मेरी बात को समझ गई.

अब हम दोनों ने कॉफी पी और उसने मुझे घर ड्रॉप कर दिया.

कुछ देर के बाद उसका कॉल आया और उसने सॉरी बोलते हुए कहा- थैंक्स यार, तुमने पब्लिक प्लेस में मुझे रोका.
मैंने कहा- हां मुझसे भी गलत हो गया था. किसी से उसके मन की चीज छीने का अपराध मुझसे हो गया.

वो हंस दी- यू नॉटी.
मैं- यार, मैं तो अभी तक उसी किस के नशे में हूँ.
उसने कहा- दुबारा भी मिला जा सकता है.

वो मुझसे मिलना चाहती थी.
मैंने कहा- बंदा हाज़िर है, बस आप बोलो तभी पेश हो जाऊंगा.
उसने कहा- ओके वीकेंड पर मिलते हैं, मैं एड्रेस भेज दूंगी. मगर तुमको कुछ लाना पड़ेगा.

मैंने कहा- हुक्म कीजिए मैडम!
तो उसने मुझे वोड्का लाने को बोला.
मैंने कहा- ओके.

अगले दिन उसका मैसेज आया. उसने एड्रेस भेजा.
ये एड्रेस अहमदाबाद के पॉश एरिया का था.

हम दोनों ने सॅटर्डे को ग्यारह बजे मिलने का तय किया.

शनिवार को मैं ठीक ग्यारह बजे उसके उस पते वाले घर पर पहुंच गया.
ये एक शानदार बंगला था और उसकी ही प्रॉपर्टी थी.

मैं घर के अन्दर पहुंचा तो उसने बताया कि आज शाम को वो अकेली है.
मैंने कहा- ग्रेट.

वो मेरे लिए पानी लाई.
मैंने कहा- आज पानी कौन पिएगा!
वो मुस्कुरा दी.

उसने एक झीना सा गाउन पहन रखा था, अन्दर से उसकी ब्रा पैंटी क्लियर दिख रही थी, मेरा लंड तो नाचने लगा था.

मैंने कहा- चलो ड्रिंक करते हैं.
तो वो बोली- इतनी जल्दी क्या है?
मैंने कहा- अब कंट्रोल नहीं हो रहा है.

उसने एक कातिलाना मुस्कान दी.
वो मुझे बेडरूम में ले गयी.

क्या बेडरूम था दोस्तो … फिल्मों के जैसा.
उसने मुझे बेडरूम में बिठाया और बोली- मैं अभी आई.

वो दस मिनट के बाद खाने का सामान और गिलास ले आई.
साथ ही उसने अपनी ड्रेस भी बदल ली थी, अब वो शॉर्ट निक्कर और टॉप में आई थी.

हमने ड्रिंक करना शुरू किया. वो मेरे पास ही थी.
जैसे जैसे दारू हलक के अन्दर जा रही थी, उसकी आंखें नशीली होती जा रही थीं.

रूम में लाइट म्यूज़िक चल रहा था. बड़ा ही मस्त माहौल था.

दो पैग के बाद उसने मुझे चूमना शुरू कर दिया. वो मुझे ऐसे चूम रही थी, जैसे बहुत दिनों से चुदने के लिए तड़प रही हो.

मेरे हाथ उसकी बॉडी पर धीरे धीरे चल रहे थे.
मुस्कान तो पूरी तरह मदहोश हो चुकी थी.

मैंने धीरे धीरे उसकी गर्दन पर किस करना शुरू कर दिया.
वो मेरे होंठों की छुअन से तड़प उठी.

मैं कभी उसकी गर्दन पर, तो कभी कान की लौ पर चूमता जा रहा था. मैं बड़े ही धीरे धीरे किस कर रहा था.
उसकी आंखें पूरी तरह बंद हो गयी थीं.

मैंने धीरे से उसका टॉप निकाल दिया. ओह … क्या बूब्स थे … एकदम टाईट और बिल्कुल पर्फेक्ट 34 इंच के … ना ज़्यादा … ना कम.

मेरे दोनों हाथ धीरे धीरे उसके मम्मों पर चलने लगे.
अचानक से वो बोली- मेरा टॉप तो निकाल दिया, अपना भी तो निकालो.
मैंने कहा- खुद ही निकाल लो.

उसने मेरी टी-शर्ट को निकाल दिया और जींस भी निकाल दी.
मैं सिर्फ एक अंडरवियर में रह गया था.

मैं उसके मम्मों पर काटने लगा.
वो पागल सी होने लगी.
उसने मुझे रोका और मेरे ऊपर आ कर मुझे पागलों की तरह सीने पर किस करने लगी.
मैं भी उसके मम्मों लगातार दबा रहा था.

धीरे धीरे वो मुझे किस करती हुई नीचे आ गयी और अचानक से उसने मेरा लंड पकड़ लिया.
उसने मेरी अंडरवियर निकाली और मेरा छह इंच का लंड उसके हाथों में आ गया.

एक पल उसने लंड को अपनी शिकारी नजरों से देखा और अगले ही पल लंड उसके मुँह में चला गया.
मैं एकदम से सिहर उठा.

अब वो पागलों की तरह मेरे लंड को चूस रही थी.
मैंने भी उसकी शॉर्ट्स के साथ साथ थॉंग (अंडरवियर) उतार दी. इसी के साथ वो 69 में हो गई थी.

आह सच में क्या प्यारी सी चूत थी … एकदम गुलाबी और बिल्कुल चिकनी!
चुत देख कर मेरे मुँह में पानी आ गया और मैं अपनी ज़ुबान धीरे से उसकी चूत की दरार पर घुमाने लगा.
वो सिहर सी गयी.

तभी उसने कहा- पहले एक पैग और लेते हैं.
मैंने दो पैग बनाए और गिलास उठा लिए.

उसने गिलास उठा कर पूरा पैग मेरे सीने पर डाल दिया और जीभ से मेरे सीने को चाटने लगी.
उसने हल्के से धक्का दिया, तो मैं बिस्तर पर सीधा लेट गया.

अब वो मेरे सर की तरफ से ऊपर से नीचे तक आते हुए मुझे चाट रही थी.

उसकी चुत मेरे मुँह की तरफ आ गई थी. मैं भी धीरे धीरे उसकी चूत को चाटने लगा था.

जैसे ही मैंने चूत को जोर से चाटना शुरू किया, वो वाइल्ड हो गयी और जोर जोर से मेरा लंड चूसने लगी.
शायद वो बहुत दिनों बाद सेक्स कर रही थी.

पांच मिनट में ही उसकी चूत ने रस छोड़ दिया. वो एकदम से उछली और निढाल हो गई.
फिर दो मिनट से भी कम समय में वो फिर से पलटी और मेरे लंड पर आ गयी.

उसने मेरे लंड को अपनी चूत पर सैट किया और जोर जोर से लंड पर कूदने लगी.
पहले झटके में ही मेरा लंड सीधा जाकर उसकी बच्चेदानी से जा टकराया.
वो चिल्ला उठी और उसकी कमर एकदम से लंड पर मानो फ्रीज हो गई.

कुछ ही पलों बाद वो फिर से कमर उचकाने लगी और जल्दी ही मुस्कान आउट ऑफ कंट्रोल हो गयी.
वो जोर जोर से लंड पर कूदने लगी.

करीब पांच मिनट तक लंड पर चुत पटकने के बाद उसकी चूत ने फिर से पानी निकाल दिया और वो झटके से मेरे ऊपर लेट गयी.

कुछ पल वैसे ही पड़ी रहने के बाद वो उठी और उसने पैग बना लिया.
हम दोनों ने फिर से पैग लगा लिया.

मैं अभी झड़ा नहीं था, मगर तब भी मैंने कंट्रोल कर लिया.

पैग लेने के बाद वो बोली- थैंक्स पंचम, आज बहुत दिनों बाद मैंने सेक्स का एंजाय किया. अब तुम्हारी बारी है.

अपना पैग खत्म करने के बाद मैंने उसको उठाया और उसे किस करने लगा.
धीरे धीरे वो फिर से गर्म हो गयी.

मैंने उसके नीचे तकिया लगाया और एक झटके से लंड चुत में पेल दिया.
वो दर्द से चिल्ला उठी.

मैंने उसको किस करना शुरू कर दिया.
थोड़ी देर में उसने सिग्नल दिया और मैंने पूरे दम से रिच गर्ल सेक्स शुरू कर दिया.

पूरे रूम में ठप ठप आवाज़ आना शुरू हो गयी.
करीब पांच मिनट के बाद वो फिर से झड़ गयी.

अब मैंने उसे उल्टा किया और टाइग्रेस पोज़िशन में ले लिया और पीछे से उसकी चूत में लंड डाल दिया.

अब तक की चुदाई से वो पूरी तरह से थक गयी थी.
मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से झटके मारने लगा.

उसकी आंखों से आंसू आने लगे.
वो देख कर मैंने लंड को बाहर निकाला.

उसने मेरे लंड पर वोड्का डाली और मुँह में ले लिया.
वो मेरे लंड को जोर जोर से चूसने लगी और मैं झड़ गया, वो मेरे पूरा माल को गटक गयी.

हम दोनों उसी हालत में सो गए.

नींद टूटी तो देखा दो बज रहे थे.
उसने पिज़्ज़ा ऑर्डर किया और ड्रिंक बनाने लगी.

ड्रिंक के बाद हम दोनों ने दो बार और चुदाई की.

शाम को सात बजे उसने कहा- अब तुम्हें घर जाना चाहिए.

मैंने उसको डीप किस किया और कपड़े पहन कर घर आ गया.

कुछ दिनों के बाद उसका मैसेज आया- अब तुम मुझे कॉल या मैसेज नहीं करना.

शायद कोई बात ऐसी हो गई थी जो उसके विवाहित जीवन के लिए ठीक नहीं थी.

मैं आज भी उससे किया वादा निभा रहा हूँ.

लॉकडाउन के कारण अभी उससे जिम में मुलाकात भी नहीं हो पा रही थी. जब लॉकडाउन खुला तो मालूम हुआ कि उसने जिम में आना छोड़ दिया था.

दोस्तो, ये थी मेरी सच्ची रिच गर्ल सेक्स कहानी. आप मुझे अपने विचार मेरे ईमेल पर भेज सकते हैं.
[email protected]

Source:

নতুন ভিডিও গল্প!


Tags: , ,

Comments