School Friend Sex Kahani – क्लासमेट की चुदाई उसकी शादी के बाद

April 19, 2021 | By admin | Filed in: Hindi Stories.
स्कूल फ्रेंड सेक्स कहानी मेरी क्लासमेट की चूत चुदाई की है. उसने अपनी शादी के 3 साल बाद मुझसे सम्पर्क किया. वो अपने पति से खुश नहीं थी.

दोस्तो, मेरा नाम राम है, मैं सूरत का रहने वाला हूँ और मेरी उम्र 35 साल है. मेरी हाईट 5 फुट 7 इंच है … शरीर एकदम फिट है, क्योंकि रोजाना मैं जिम जाता हूँ.

मैं नियमित रूप से अन्तर्वासना की सेक्स कहानी पढ़कर मजा लेता रहता हूं.

अन्तर्वासना सेक्स की कहानी पढ़ने के बाद मुझे भी अपनी पहली चुदाई की स्कूल फ्रेंड सेक्स कहानी लिखने का मन हुआ.

मैं सूरत में एक निजी कंपनी में काम करता हूं, निजी कंपनी की नौकरी के कारण बहुत व्यस्त हूं.
अगर मुझे खाली समय मिलता है, तो मैं फेसबुक पर दोस्तों के साथ चैट करता हूं.

एक दिन मुझे अपने स्कूल में साथ पढ़ने वाली फ्रेंड की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई.
मैंने उसकी फ्रेंड रिक्वेस्ट एक्सेप्ट कर ली और हम बात करने लगे.

हम दोनों ने अपने फोन नंबरों का भी आदान-प्रदान किया और अब फोन पर बातचीत करना शुरू कर दी.

एक दिन उसने मुझसे अपने प्यार का इजहार किया और मैंने भी हां कह दिया.
वह शादीशुदा है और उसका 1 बच्चा है.

पहले तो मुझे समझ नहीं आया कि उसके प्रेम प्रस्ताव का क्या किया जाए लेकिन उसके शब्दों से मुझे लग रहा था कि वह थोड़ी व्याकुल है.

उसने मुझे अपनी कहानी बताई, उसकी शादी को 3 साल हो गए थे और वह अपने पति से खुश नहीं थी. उसका पति उसे संतुष्ट नहीं कर पाता था, इसलिए वह अपने पति के दोस्त के साथ अपनी शारीरिक भूख को शांत करती थी.

परंतु जब बाद में उसे पता चला कि उसके प्रेमी का भी एक चक्कर था तो वह उससे अलग हो गई थी.
उसे अपनी शारीरिक भूख को संतुष्ट करने के लिए किसी साथी की जरूरत थी. ऐसे में उसने मुझे फेसबुक पर पाया.

अतृप्त स्कूल फ्रेंड सेक्स कहानी सुनने के बाद मैंने भी उसे हां कह दिया.
चूंकि मैंने अभी तक शादी नहीं की थी और मैंने अभी तक किसी के साथ सेक्स भी नहीं किया था.

वह मेरी हां सुनकर बहुत खुश हो गई.

जब मैंने उसे बताया कि मैं अभी भी कुंवारा हूं, मैंने अभी तक सेक्स नहीं किया.
तो यह सुनकर वो और भी खुश हो गयी और उसका मन मुझसे मिलने के लिए ललचाने लगा.

अब हर रात हम दोनों सेक्स चैट करने लगे थे.
वो हर दिन अपने बॉयफ्रेंड के साथ चुदाई की कहानी सुनाती थी. उसकी चुदाई की कहानी सुनकर मेरा लंड रोज़ खड़ा हो जाता था.
उसकी चुदाई की सोच कर मैंने अपने लंड को हाथ से हिलाने लगता था.

एक दिन उसने मुझे बताया कि उसका बॉयफ्रेंड उसे 25 मिनट तक चोदता था.
यह बात मेरे दिमाग में घर कर गई.

एक दिन सुबह जब मैं सोया था, तो उसने मुझे वीडियो कॉल किया.

जैसे ही मैंने कॉल रिसीव किया, मैं उसे देखता रह गया.
उसने स्नान करके केवल एक तौलिया पहन रखा था. इस रूप में वह एक कयामत लग रही थी.

फिर धीरे से उसने टॉवल को भी निकाल दिया. अब वो मेरे सामने पूरी नंगी थी.

मेरी आंखें तो खुली की खुली रह गईं. एक बच्चे की मां होने के बाद भी उसने अपने आपको पूरा फिट रखा था. उसके बदन के उभार देख कर तो मेरा लंड कण्ट्रोल में ही नहीं हो रहा था. उसने मुझे अपनी गुलाबी चूत भी दिखाई.

उसने भी मुझे मेरा लंड दिखाने के लिए बोला, जब मैंने अपना लंड दिखाया तो मेरे लंड को देखकर उसकी आंखें चमक उठीं. मेरे लंड की लम्बाई 17.5 सेंटीमीटर है.
मेरा लंड देख कर वो बोली कि ये तो मेरे चुत में घुसेगा ही नहीं … या घुसेगा तो मेरी चूत फाड़ देगा.

चुत देखकर मैं अपने आपको रोक नहीं पाया. मैंने तुरंत बाथरूम में मास्टरबेट किया.

वो अब मुझसे जितना जल्दी हो सके, मुझसे मिलना चाहती थी. मेरे लंड को चूसना चाहती थी और अपनी चूत लंड से फड़वाना चाहती थी.

खैर … एक महीने बाद हम लोग फाइनली एक होटल में मिले.
होटल में शुरूआत मैंने ही की.

मैंने होटल के रूम में आकर दरवाजा बंद किया और उसे अपनी बांहों में कस कर जकड़ कर बेतहाशा किस करने लगा.

मैंने उसे चोदने से पहले काफी सेक्स वीडियो देखी थीं, जिनमें लड़कियों को कैसे उत्तेजित करते हैं … वो सब समझा था.
मैं वैसा ही सब उसके साथ करने लगा. उसके बदन के उभारों को मैं उसके कपड़े के ऊपर से ही दबाने और चूसने लगा.

पर इतने में ही मेरा लंड झड़ गया.
अचानक से मेरे लंड में तनाव ही नहीं रहा, मुझे शर्म आने लगी.

लेकिन फिर उसी ने मुझे हिम्मत देते हुए कहा कि पहली बार में ये सब होता है.
ये सुनकर मुझमें फिर हिम्मत आ गयी.

उसके बाद मैं बाथरूम में चला गया. मेरे बाद वो भी बाथरूम में गयी और जब वो वापस आयी तो सिर्फ टॉवल में ही थी.
मैं कमरे में अंडरवियर में था. मैंने उसे तुरंत बांहों में भर लिया और उसके होंठ को लंबी किस करने लगा. उसके उभारों को दबाने लगा.

फिर मैंने उसकी टॉवल को भी निकाल दिया.
अब मेरे सामने वो बिल्कुल नंगी थी.

पहली बार मैंने उसके नंगी चूची को पकड़ कर दबाया, तो उसके मुँह से सिसकारी निकल गयी.

मैं उसे उठा कर बिस्तर में ले गया. जैसे ही हम दोनों बिस्तर में आए, तो उसने मेरी भी अंडरवियर को उतार दिया.
अब हम दोनों एकदम नंगे बदन एक दूसरे से चिपके हुए थे. उसके होंठ मेरे होंठ पर थे, मेरे दोनों हाथ उसके दोनों स्तनों को मसले जा रहे थे.

वो मेरे नीचे लेट गई और मेरा सख्त लंड पकड़ कर अपनी चुत की फांकों में ले गयी.
उसने लंड चुत की दरार में सैट किया और मुझसे धक्का देने को बोली.

जैसे ही उसकी चुत से मेरा लंड टकराया, मैं फिर से झड़ गया.
अब तो मैं और भी शर्मिंदा हो गया. अब मैं उससे नजरें भी नहीं मिला पा रहा था.

पर वो भी मंजी हुयी खिलाड़ी थी. वो मेरे शर्मिन्दगी को समझ गयी.
वो मुझे समझाते हुए बोली- पहली बार में ऐसा तो होता ही है, ये तो कॉमन बात है … तुम टेंशन मत लो, सब हो जाएगा.

कुछ देर यूं ही एक दूसरे से बात करने के बाद हम दोनों उठ कर कपड़े पहन कर शॉपिंग करने बाहर चले गए.

चार घंटे बाद हम दोनों वापस आए, पर इन 4 घंटों में मैं केवल यही सोचता रहा था कि अगली बार मैं फिर से कहीं जल्दी न झड़ जाऊं तो न जाने क्या होगा.

रात में डिनर करने के बाद शुरूआत उसी ने की. क्योंकि वो मेरा मायूस चेहरा देख चुकी थी. इस बार किस करने की शुरुवात उसी ने की.

उसने पहले मेरे कपड़े पूरे निकाल कर मुझे नंगा किया और मेरे पूरे शरीर को चूमने लगी.
फिर मैंने भी उसे पूरी नंगी कर दिया और मैंने महसूस किया कि अचानक से मेरा लंड फिर से सरिया की तरह सख्त हो गया.

तभी उसने अपना एक निप्पल मेरे मुँह में दे दिया और एक मिनट चुसवाने के बाद वो अचानक से नीचे झुक गई.

उसने मेरा लंड पकड़ा, जो अब तक सख्त हो चुका था. लंड को उसने अपने मुँह में भर लिया और चूसने लगी.
मुझे मजा आने लगा और मेरे मुँह से सिसकारियां निकलने लगी.

उसने लगभग 5 मिनट तक मेरा लंड चूसा.

उसके बाद मैं उसके ऊपर आ गया और अपना लंड सीधे उसके चूत के अन्दर पेल दिया.
र हाय री मेरी किस्मत इस बार भी मेरा लंड उसके अन्दर नहीं घुसा. मेरा केवल सुपारा ही उसकी चुत के अन्दर घुस पा रहा था.

मैंने सोचा कि वो शायद गीली नहीं हुयी है, तो मैं उसको गीला करने के लिए फिर से उसे किस करने लगा. उसके निप्पलों को चूसने और दबाने लगा. उसे सभी जगह लव बाईट देने लगा.

अंत में मैंने उसकी चुत को भी चाट लिया उसकी चुत का स्वाद बहुत ही नमकीन था.
चुत चाटते ही वो सिसकारियां भरने लगी.

अब उससे रहा नहीं जा रहा था, वो अब जल्दी से मेरा लंड अपनी चूत में घुसाने के लिए बोलने लगी.
मैं भी कब से तड़प रहा था कि कब उसके अन्दर मेरा पूरा लंड घुसे, पर फिर से मेरे लंड का सुपारा ही उसके अन्दर घुसा.

मैंने जोर लगाया तो उसे भी बहुत दर्द हो रहा था.
अब तक उसे भी समझ में आ गया था कि इस बार उसकी चुदाई बहुत बड़े लंड से वाली थी.

उसे खुद आश्चर्य हो रहा था कि उसकी शादी को 3 साल शादी को हो गए. इसी चुत से 1 बच्चे को निकाल चुकी है और अपने बॉयफ्रेंड से भी नियमित चुदवाती रही है, फिर भी वो मेरा लंड चुत में पूरा नहीं ले पा रही थी.

मैंने उसको उसी तरह से आधे लंड से 10 मिनट पेला और चुत में ही झड़ गया.
झड़ने के बाद कुछ देर हम लोग ऐसे ही सो गए.

रात को एक बजे फिर से हम दोनों ने कोशिश की पर मेरा लंड उसकी चुत के अन्दर घुस ही नहीं रहा था.
इस बार उसने मुझे लंड पर तेल लगाने की सलाह दी. मैंने उसकी बात मानते हुए अपने लंड पर तेल लगाया और थोड़ा तेल उसकी गुलाबी चूत में भी लगा दिया.

इस बार तेल से भीगे लंड को उसके अन्दर पूरे जोर से डाला, तो एक ही झटके में लंड अन्दर घुस गया.

वो जोर से चीखने लगी और लंड बाहर निकालने का बोलने लगी.
उसका दर्द देख कर मैंने अपना लंड बाहर निकाल दिया.

मैंने फिर घुसाने की कोशिश की, तो वो दर्द से चीखने लगी.
कोई 15 मिनट वैसे ही उसकी चुदाई करने के बाद मैं फिर से झड़ गया.

अब हम दोनों थक कर सो गए. इस बार मेरा मन ये सोच कर संतुष्ट था कि मुझमें कोई कमी नहीं है.
वो भी संतुष्ट हो गई थी क्योंकि पहली बार इतने बड़े लंड से उसकी चुदाई हो रही थी.

सुबह को 8 बजे हम लोग सोकर उठे, नित्य क्रिया से फ्री होकर हम फिर एक दूसरे की बांहों में आ गए.

दिन की रोशनी में उसने मुझे पूरा नंगा देखने की इच्छा जाहिर की तो मैंने भी हां बोल दी.

मैंने अपनी टी-शर्ट खोल दी और बिस्तर पर लेट गया.

वो अन्तःवस्त्र में थी और मेरे ऊपर बैठ कर मुझे बेइंतिहा किस करने लगी. वो मेरे पूरे बदन को चूमे जा रही थी.

फिर उसने मुझे उल्टा कर दिया और मेरी पीठ में किस करने लगी और अपने निप्पलों को मेरे पीठ में रगड़ने लगी.

इन सबसे मेरा लंड फिर से सख्त हो गया और मैंने अचानक से उसे अपने नीचे लेकर उसके ऊपर सवार हो गया.

मैं उसे बेइंतेहा चूमने लगा, इस बार मैंने तेल लगा कर अपना लंड धीरे से उसके अन्दर डाला तो उसको दर्द कम लगा.

कुछ देर करने के बाद वो मेरा पूरा लंड अन्दर लेने लगी. अब उसे भी मजा आने लगा और मुझे भी. उसकी सिसकारियां पूरे कमरे में गूंजने लगीं.

मैं पूरे आधा घंटे तक उसकी चुदाई करते रहा और वो चुदवाती रही.
इस बार देर तक चुदाई हुयी थी तो मजा आना लाजिमी था.

चुदाई के बाद जब मैं झड़ा तो उसकी ख़ुशी का ठिकाना ही नहीं रहा.
इस बार की चुदाई में वो दो बार झड़ चुकी थी.

अब हम दोनों हर महीने मिलते हैं. मैं उसे काफी देर तक चोदता हूँ.
हम दोनों अब सेक्स के कई आसन प्रयोग करने लगे हैं. हम दोनों बहुत खुश हैं.

दोस्तो, यह मेरा पहली सेक्स कहानी है, इसलिए कृपया गलतियों पर ध्यान न दें और स्कूल फ्रेंड सेक्स कहानी पर अपने सुझाव मेरे ईमेल पर भेजें.
मेरी ईमेल आईडी है
[email protected]

Source:

নতুন ভিডিও গল্প!


Tags: , ,

Comments