Hot Wife Porn Kahani – मेरी पत्नी ने मेरे दोस्त से खुलकर चूत चुदाई का मजा लिया

April 10, 2021 | By admin | Filed in: Hindi Stories.
हॉट वाइफ पोर्न कहानी मेरी सगी बीवी की चूत में मेरे दोस्त के लम्बे मोटे लंड घुसने की है. मेरी बीवी ने पहली बार इतना बड़ा लंड लिया था. वो बहुत खुश थी.

हैलो फ्रेंड्स, मैं जय फिर से आपकी चुदाई की आग को ठंडा करने के लिए हाजिर हूँ.
हॉट वाइफ पोर्न कहानी के पिछले भाग
मेरी बीवी बड़े लंड से चुद गयी मेरे सामने
में अब तक आपने पढ़ लिया था कि विक्रम मेरी बीवी को चोद रहा था.

अब आगे हॉट वाइफ पोर्न कहानी:

संजू बड़ी मस्ती से सीत्कार भर रही थी- आहअ … ओह ऱाजा … उईइ … मम्मीअ कितना मोटा लंड है.

उसकी गर्म आवाजें निकलने लगी थीं. विक्रम लगातार उसे चोदे जा रहा था. संजू कभी सर को इधर, कभी उधर कर रही थी.
शायद उसे इस बार बहुत मजा आ रहा था.

अब संजू की चूत से ‘फच … फच …’ की आवाजें भी आने लगी थीं. उसकी चूत से काफी पानी रिस कर बेड पर भी गिर रहा था.
मैं सोच रहा था कि पता नहीं … संजू की चूत से इतना पानी कहां से आ रहा था.

लगभग दस मिनट चोदने के बाद विक्रम उसी अवस्था में संजू को गोद में लेकर खड़ा हो गया और संजू को बेतहाशा चोदने लगा.

इससे संजू की सिसकारियां बढ़ गईं और वो आंखें बंद किये हुए ‘आंह … आह … उई मम्मी ..’ की गर्म आवाजें निकालने लगी.

कुछ मिनट तक इसी पोज में चोदने के बाद विक्रम बोला- प्लीज डार्लिंग, तुम मेरे ऊपर आओ ना!

संजू को अभी मजा आ रहा था इसलिए उसने पोज बदल लिया. वो घुड़सवारी करने के पोज में आ गई.
उसने अपनी चूत को विक्रम के लंड से फंसाया और गांड ऊपर नीचे करते हुए चुदाई का मजा लेने लगी.

इस पोज में संजू के साथ साथ विक्रम भी सीत्कार भर रहा था.

पांच मिनट चुदने के बाद संजू का शरीर झटका देने लगा और वो चिंघाड़ते हुए झड़ने लगी.
मेरी बीवी झड़ कर विक्रम के ऊपर पस्त होकर गिर गई और उसने विक्रम को कसके पकड़ लिया.
थोड़ी देर बाद संजू शांत हो गई.

परंतु विक्रम का लंड अभी तक नहीं झड़ा था; वो नीचे से ही मेरी बीवी की चूत में कंद से जोर जोर से झटके मारने लगा.

संजू अब कराहने लगी और बोली- विक्रम, अब रस निकाल दो यार … मैं बहुत थक गई हूँ.
विक्रम बोला- मैं प्रयास करता हूँ.
वो और जोर जोर से मेरी बीवी को चोदने लगा.

संजू बोली- मुझे बहुत कसके प्यास लग आई है.
तभी विक्रम बोला- मेरा रस निकलने वाला है.
संजू बोली- ये रबड़ी मुझे पिला दो, मेरा गला तर हो जाएगा.

इस पर विक्रम उठा और अपना लंड संजू के मुँह में डालकर हिलाने लगा.
उसने एक मिनट बाद अपना सारा वीर्य संजू के मुँह में उड़ेल दिया, जिसे संजू मजे से पी गई.
उसने विक्रम के लंड को चाटकर साफ कर दिया.

चुदाई के बाद दोनों काफी संतुष्ट लग रहे थे. संजू विक्रम को देख कर बोली- अब तो मन भर गया न … तब से बच्चे की तरह जिद किए जा रहा था.

विक्रम ने ये सुनते ही संजू के कंधे पर अपना सर रख दिया और उसकी आंखों पर एक किस देकर अपना प्यार का इजहार किया.
संजू बोली- अच्छा, बहुत हुआ मस्का लगाना. अब उठो … मुझे सोने जाना है.

उस समय करीब 4.45 हो रहा था.
विक्रम बोला- बेबी, यहीं सो जाओ ना प्लीज!

संजू मान गई और नाईटी पहनने लगी.
तो विक्रम बोला- छोड़ो ना यार … दोनों नंगे ही सो जाते हैं.

मेरे दोस्त ने मेरी बीवी को अपनी ओर खींचा और अपने बगल में नंगी ही सुला लिया.
वे दोनों पूर्णतः नंगे थे.

विक्रम अपना एक पैर संजू की जांघ के ऊपर तथा अपने हाथ को करवट लेते हुए संजू की चुची पर रख कर उससे सटकर सो गया.
संजू को भी तुरंत नींद आ गई.

मैं भी ये सब देखते हुए संजू को चोदना चाह रहा था. परंतु संजू की स्थिति देखकर मन मसोस कर रह गया और अपने कमरे में आकर सो गया.
मुझे भी गहरी नींद आ गई थी.

करीब 07 बजे सुबह मुझे कुछ आवाज सुनाई दी.

मैंने आंखें खोलीं, तो संजू के कराहने की आवाज आ रही थी. उस कराहने की आवाज में मजा का भी समावेश था.

मैं उठा और विक्रम के कमरे में गया, तो बड़ा ही उत्तेजक दृष्य देखने को मिला.

संजू बेड पर डॉगी स्टाईल में पूर्णतः नंगी थी और पीछे से विक्रम अपने विशालकाय लंड से संजू को डॉगी स्टाईल में ही जोरदार तरीके से चोद रहा था.

संजू के गदराए हुए चुचे जोर जोर से हिल रहे थे और संजू मस्ती से चिल्ला रही थी- आह … ओह … ओय मम्मी धीरे से … ओह विक्रम!

उन दोनों की चुदाई का हरेक शॉट इतना जबरदस्त था कि संजू की गांड और मांसल जांघें भी पूरी तरह से हिलोरे खा रही थीं.

मुझे ये सब देखकर आश्चर्य हुआ कि ये रात भर में तीसरी बार चुदाई हो रही थी. विक्रम का तो समझ में आता है कि वो कई दिन का प्यासा था, परंतु संजू में कितनी गर्मी भरी हुई है, ये मुझे आज पता चल रहा था.

एकाएक विक्रम ने संजू की चूत से लंड निकाला. उसका लंड संजू के चूत के पानी तथा उसके प्रीकम के वजह से पूरा लसलसा हो गया था.

विक्रम ने संजू को नीचे बैठाया और अपना लंड संजू के गदराई हुई चुचियों के बीच में रखकर चुचियों को ही चोदने लगा.

संजू ने भी अपने हाथों से अपनी दोनों चुचियों को सटा दिया था, जिससे लंड से चोदने में विक्रम को और मजा आने लगा था.

तभी संजू ने विक्रम का लंड अपने मुँह में लेना शुरू कर दिया. वो मम्मों से निकल कर लंड को अपने मुँह में लेकर चुभलाने लगी. इससे विक्रम सिसकारी भरने लगा.

संजू बोली- क्या विक्रम … तुमने तो मेरा पूरा जिस्म निचोड़ कर रख दिया है. इतनी जल्दी जल्दी कोई सेक्स करता है क्या भला!
विक्रम बोला- भाभी जान तुम इतनी खूबसूरत और सेक्सी हो कि मन करता है हमेशा तुम्हारे यीवन रस में ही डुबकी लगाता रहूँ.
संजू हंसने लगी.

तभी विक्रम बोला- आह भाभी … अब मेरा निकलने वाला है.
संजू बोली- शुक्र है … तुमने तो मेरी जान निकाल दी है. तुम अभी निकलने की कह रहे हो. मेरा तो अब तक दो बार निकल चुका है.

ये सुन मुझे आश्चर्य हुआ कि चुदाई बहुत देर से चल रही है … और संजू दो बार स्खलित हो चुकी है. क्या औरत थी वो!

संजू ने मुँह खोल दिया और विक्रम ने अपने विशालकाय लंड को जोर जोर से हिलाते हुए अपना सारा माल संजना के मुँह में उड़ेल दिया.

संजू बड़े चाव से वीर्य को पी गई, लग रहा था कि संजू को भी अब वीर्य पीने में मजा आने लगा था.

संजू बोली- क्या यार, तुमने मुझे रात भर सोने नहीं दिया है … और मेरी एक एक नस को तोड़ कर रख दिया है. प्लीज अब मुझे सोने दो, अब मुझे तंग नहीं करना … नहीं तो मैं बेहोश हो जाऊंगी.
विक्रम बोला- ऐसा नहीं बोलो भाभी … आप आराम करो.

तभी उन दोनों की नजर मुझ पर पड़ी.
मैं मुस्कुरा दिया.

विक्रम बोला- सॉरी यार, मैं महीनों से भूखा था, इसलिए तेरी बीवी को मैंने इतना परेशान किया.
मैंने बोला- अरे यार कोई बात नहीं … अब तो भूख शांत हो गई ना.

इस पर विक्रम बोला- यार, भाभी जैसी हूर से तो भूख कभी शांत हो ही नहीं सकती … लेकिन हां एक वर्ष की प्यास जरूर बुझ गई.
मैंने बोला- तो एक बार और चोद लो.

तभी संजू बीच में बोल पड़ी- अरे पागल हैं क्या आप … इसने जो मेरा हाल किया है ना रात भर में … वो मैं ही जानती हूँ. मेरा एक एक पोर पोर दर्द कर रहा है. अब मुझसे बर्दाश्त नहीं होगा.
तभी मैं और विक्रम हंस पड़े.

संजू अपनी नाईटी लेकर बाथरूम में चली गई.

उसके जाने के बाद मैंने विक्रम से पूछा- कहो यार कैसी रही रात?
विक्रम बोला- यार, मैंने एक से एक रंडी को चोदा है … लेकिन जितनी गर्मी तेरी बीवी में है ना … उतनी मैंने जिन्दगी में कभी नहीं देखी. बहुत खुशकिस्मत हो कि ऐसी सेक्सी और सुंदर पत्नी तुझे मिली. मैं पूर्णतः संतुष्ट हो गया मेरे दोस्त. जब भी मेरी शादी होगी, मैं तुझे नहीं भूलूंगा.

तभी संजू बाथरूम से बाहर आ गई और मेरे कमरे में जाकर सो गई.
मैं भी जाकर संजू के साथ सो गया.
इधर विक्रम अपने कमरे में सो गया.

बेड पर जाते ही संजू को थकान के कारण नींद आ गई. मैं उसके बगल में सो गया.

मैंने देखा उसकी नाईटी ऊपर जांघ तक उठ गई थी. मैंने थोड़ा सा और ऊपर उठाकर देखा तो उसकी बुर, विक्रम के लंड से चुदाई के कारण सूज गई थी.
उसकी चूत के आस-पास चूत का रस और विक्रम के वीर्य का मिला जुला पानी जो कि सूख गया था, लगा हुआ था.
मैंने ये देखकर पुनः उसे ढक दिया और सो गया.

मेरी नींद दस बजे खुली, तो मैंने देखा कि संजू अभी भी घोड़े बेच कर सो रही थी.

मैं अपने कमरे से निकला, तो देखा विक्रम नहा धोकर फ्रेश हो चुका था.
तो मैं भी फ्रेश होकर विक्रम के रूम में चला गया और इधर उधर की बातें करने लगा.

तभी मैं बोला- यार आज खाना तो घर में नहीं बन पाएगा क्योंकि तुमने मेरी बीवी को चोद चोद कर उसका बुरा हाल कर दिया है. मैं बाहर में आर्डर दे देता हूँ.
विक्रम बोला- अरे यार, मैंने आलरेडी आर्डर दे दिया है. मगर ये थोड़ा देर से आएगा. जानते हो यार मैंने आज तक बहुत सी रंडी, गर्लफ्रेंड को चोदा है … परंतु जो सुंदरता, यौवन एवं वासना तुम्हारी बीवी में है, वो किसी में भी नहीं.

अब दिन के 12 बज रहे थे. तब जाकर संजू की नींद खुली और वो हम लोगों को देख कर गुडमॉर्निंग बोली. वो विक्रम की तरफ देखकर मुस्कुरा दी.

तभी घंटी बजी. देखा तो खाना आ गया था.
खाना उस शहर के सबसे बड़े होटल से मंगाया गया था.

संजू बोली- अरे वाह खाना भी आ गया … अच्छा है मुझे बहुत भूख लगी थी.
विक्रम ने कहा- भाभी जान आप फ्रेश होकर आ जाओ. हम लोग खाना सर्व करते हैं.

संजू कुछ मिनट में बाथरूम से फ्रेश होकर आ गई और उसने अपनी नाईटी चेंज कर ली. उसकी सुंदरता अभी भी चमक रही थी.

खाने में बड़ा महंगा मेन्यू था. हम तीनों खाने लगे.
तभी विक्रम बोला- रुको मैं तुम लोगों के लिए कुछ और भी लाया था.

वो अपने बैग से एक रेड वाईन निकाल लाया.
उसका ढक्कन ही सोने का था.

आप सब विश्वास नहीं करोगे, वो वाईन एक लीटर वाली थी और उसकी कीमत एक लाख दस हजार रूपए थी.

हम तीनों ने उस वाईन को पिया. वाईन पीने के बाद ऐसा लग रहा था, जैसे हम लोग सर्वशक्तिमान हो गए हैं. रोम रोम से शक्ति का प्रसार जैसा महसूस हो रहा था.
तीनों एकदम से तरोताजा हो गए थे.

खैर खाने के बाद हम लोग कुछ देर इधर उधर की बातें करने लगे. उस समय दो बज रहे थे.

विक्रम बोला- यार, मैं पांच बजे शाम को निकल जाउंगा.
मैंने कहा- इतना जल्दी!
वो बोला- हां यार … दो तीन मीटिंग हैं … ये बहुत ही इम्पोर्टेंट हैं.

ये सुन कर संजू का मुँह लटक गया. संजू बोली- मैं नहाने जा रही हूँ.
वो गांड मटकाते हुए नहाने चली गई.

दस मिनट बाद मैंने विक्रम को बोला- यार जाओ … तुम भी उसके साथ में नहा लो.
वो बोला- यार, मैं तो नहा चुका हूँ.

मैं बोला- यार बात को समझा करो, संजू के साथ नहाने का मजा ही कुछ अलग है.
वो समझ गया और झट से कपड़े खोल कर सिर्फ चड्डी में बाथरूम में घुस गया.

बाथरूम में घुसते ही संजू बोली- अरे तुम यहां?
विक्रम बोला- साथ में नहाना है भाभी.
संजू हंसने लगी.

दो मिनट बाद ही संजू की नकली सी रोने की आवाज आई- नहीं विक्रम अब नहीं, नहीं ना बाबा … अब छोड़ो ना.

मैंने सोचा कि चलो आज मैं भी साथ में मजा लेता हूँ. वैसे भी मेरा बाथरूम बहुत बड़ा था.

मैंने जैसे ही बाथरूम का दरवाजा खोला तो अन्दर का सीन देखकर मेरा लंड फुंफकार मारने लगा.
मेरी बीवी संजू और मेरा दोस्त विक्रम दोनों पूर्ण नग्न अवस्था में थे और संजू घुटने के बल बैठकर विक्रम के विशालकाय लंड को बेतहाशा चूसे जा रही थी.

विक्रम खड़े होकर आंखें बंद करके ‘ईस् … ईस्सस ..’ की आवाजें निकाले जा रहा था.
संजू लॉलीपॉप की तरह उसके लंड को चूसे जा रही थी. विक्रम संजू के बालों को सहला रहा था.

मैंने जैसे ही दरवाजा खोला, तो दोनों का ध्यान मेरी तरफ आ गया.
वो दोनों ही मुस्कुरा दिए.

मैं भी इस समय पूरा नंगा था और मेरा लंड भी फुंफकार मार रहा था.

अब हॉट वाइफ पोर्न कहानी में सैंडविच चुदाई का मजा भी आना शेष है. अगले भाग में उसे भी लिख कर आपको सेक्स कहानी का मजा दूंगा. आपके मेल का इन्तजार रहेगा.
[email protected]

हॉट वाइफ पोर्न कहानी जारी है.

Source:

নতুন ভিডিও গল্প!


Tags: , ,

Comments