चाची को चोद कर खुश कर दिया

| By admin | Filed in: Hindi Stories.

नम्स्ते दोस्तों मैं अनिल मस्ताना… आज एक नई कहानी के साथ आया हु ये कहानी मेरी चाची और मेरी है तो चलिए मैं आपको बता ता हु कैसे मेने चाची को सेक्स सुख दिया पहले मैं अपने बारे में बता देता हु मेरा कद 5.10 है रंग गोरा शरीर एकदम फिट, मेरा लनड 6.5 इंच का है,मेरे घर मै,पापा, मम्मी,चाचा,चाची और उनका एक बेटा है अब चाची के बारे में बता ता हु चाची का नाम पूजा है चाची का कद 5.5 इंच है पूजा चाची का रंग् एक एकदम दूध जैसा है चाची कि लिप और गाल हमेशा लाल रहते है चाची बहुत सेक्सी है उनका फिग्र् 34-28-36 है चाची जो बहुत सीधी और प्यारी है उनकी उम्र 29 साल है।

चाची मुझे बहुत प्यार करती है अब कहानी पर अता हु हम सब एक साथ एक घर में रहते है हमरा घर दो मंजिल है निचे हम और ऊपर की मंजिल में चाचा चाची रहते है मेरा चाचा और पापा एक साथ व्यपार करते है इसलिए आक्सर काम से पापा या चाचा जी को दूर सिटी में जाना होता है पापा बड़े है इसलिए चाचा जी पापा को ऑफिस में और खुद बहार जाते है।

जब चाचा बहार् जाते है तो मुझे अपनी चाची के पास रात को सोना पड़ता है क्योंकी चाची का बेटा छोटा है और चाची को डार लगता है ऐसे ही एक बार चाचा किसी काम से तीन दिनों के लिए बाहर गए तो मुझे चाची के रूम में ऊपर सोना था हम सब ने डिनर किआ और टीवी देखने लगे टीवी देखते देखते रात के 10 बज गए तो पापा मम्मी अपने रूम में जाने लगे कुछ देर बाद चाची जी बोली अनिल चलो सोते हैं मुझे नींद आ रही है मेने कहा आप चलो मैं अता हु चाची अपने बेटे को ले कर ऊपर रूम की और चल दी कुछ देर बाद में भी टीवी ऑफ कर ऊपर रूम में चला गया चाची जी बीएड पर चादर सही कर रही थी…

चादर सही करने के बाद चाची बोलि तुम लेटो मैं साडी बदल कर नाईट गाउन पहन कर आती हूँ मैं लेट गया एक तरफ चाची का बेटा सो रहा था 5 मि हो गई चाची बाथरूम से नहीं आय तो मैं सोचने लगा क्या बात है जो चाची नहीं आय कुछ और वेट के बाद मैंने चाची जी को आवाज लगाई चाची जी कहा रह गए आप क्या हुआ तो बाथरूम से चाची जी की आव्ज् आई कुछ नहीं आ रही हूँ लेकिन चाची नहीं आय में फिर से बोला चाची आप सही है क्या तो चाची ने कहा यस मैं सही हु आ रही हूँ रुको थोड़ा मैं कहा ओके कोई एक मिंट बाद चाची की आवाज आय आनिल एक बार यहाँ आओ मुझे हेल्प करो…

मैं एकदम से बाथरूम में गया तो देखा चाची जी ब्लैक ब्लोउज् और पतिकोत् में गेट की तरफ पिट कर के खाडी है उसदिन चाची जी ने ब्लोव्ज् पहना था जिसमे पीछे हुक थे और कमर पर लगते थे तो चची के बाल उस ब्लोव्ज् के हुक में बुरी तहरा से फास गए थे जिसे चाची निकल नहीं पाई और मुझे बोला निकलने को इसे पहले मेरे मन में चाची के लिए कोई बोरा ख़याल नहीं था लेकिन उसदिन चाची को उस ब्लैक ब्लव्ज् और पेतिकोत् में देख कर मेरे मन में सेक्स जागने लगा क्योकि चाची की बड़ी गान्ड उस पतिकोट में ऊपर उठी दिख रही थी और चाची की पैंटी लाइन भी साफ साफ दिख रही थी कहा पैंटी है यही हाल् ब्लोव्ज् का था उसमे भी ब्रा लाइन पूरी साफ दिख रही थी और चाची के बूब्स का आकार् साफ पता चाल रहा था..

मैं तो बस चाची के सेक्सी बदन को ताड रहा था एकदम से चाची बोली देखो ना मेरे बल ब्लोव्ज् के हुक्स् में फास गए है प्ल्ज़ इन्हे निकल दो मेरा ब्लोव्ज् नहीं खुल रहा है मैं बोलै ओके चाची जी निकलता हु मैं आगे बढ़ा और अपने हाथ चाची के ब्लोव्ज् के ऊपर रख दिए और बाल् निकलने लगा और पीछे चची की उभरी गाड को ताड ने लगा मेरा ध्यान तो चाची की गानड पर था बाल कहा फसे है और कहा नहीं मुझे कुछ पता नहीं जब बहुत टाइम हो गया तो चाची बोलो अनिल तुम्हारा ध्यान कहा है बल तो निकले ही नहीं तब मुझे ख्याल आया कि मैं क्या करने आया हु और क्या कर रहा हो चाची को इस हालत में देखकर मेरा लोडा खड़ा होगया था …

मेरे लोवर् में तम्बू बन गया मैं कुछ बल हुक से निकल चूका था कुछ रह गए थे क्योकि वो बुरी तरह फसे थे जिसके लिए ब्लोव्ज् के ऊपर की हुक खोले पड़ते जो मेने चाची को बताया तो चाची ने कहा जो करना है करो लेकिन प्ल्ज़ मेरे बाल निकालो मुझे बहुत दुःख रहा है सर में मेने चाची के ऊपर के तीन हुक खोल डेल जिसे चाची की रेड ब्रा की स्त्त्रप गोरी पीठ पर दिखने लगी जिसे में और गरम हो गया अब चाची के तीन हुक और रह गे थे जो खुलने थे मेने देखा चाची कि पीठ पर एक तील है जो बहुत सुन्दर लग रहा था …

मेरा पूरा ध्यान उस तिल पर था पता नहीं क्या हुआ जिसे मेरा लोडा चाची की गन्ड से जा लगा जैसे ही चाची को अपने हिप पर मेरा लैंड म्ह्सुस् हुआ तो चाची आगे हुई और बोली प्ल्ज़ अनिल करो न क्या कर रहे हो मेरे बाल निकालो इस घटना से चाची गर्म होने लगी थी और वो खुद को इधर उधर हिला रही थी जिसे मेरे हाथ चाची की पीठ पर लगने लगे ये सब चल रहा था इसी बिच मेने बल निकल दिए लेकिन चाची वैसे ही खाडी रही और मैं भी चाची की गोरी पीठ उस आधे खुले बिलोव्ज् से दिख रही थी …

मेरा कण्ट्रोल अब मुझ पर नहीं रहा और मेरे दोनों हाथ चाची की पीठ पर जा लगे और मैं चाची के और नजदीक होगया अब मेरा लोडा चची के दोनों चूतड़ओ के बिच में जा फसा मेने अपने हॉट चाची की नगि पीठ पर उस तिल के ऊपर रख दिए और पूरी खुली पीठ को चूमने चाटने लगा जिसे चाची और गरम होग्य् और अपनी गान्द् को मेरे लोदे पर जोर से दबाने लगी मेने चाची की पीठ छोड़ कर गर्दन पर चूमने लगा ऐसे ही हम दोनों गर्म होग्य् फिर मेने चाची के बचे ब्लोव्ज् के हुक भी खुल दिए और ब्लोव्ज् पूरा निकल फेका अब चाची रेड नेट ब्रा में थी जिसमे चाची की पीठ पूरी सेक्सी लग रही थी…

मैं पूरी पीठ को चुम कर चाची को अपनी तरफ घुम्या तो चाची की दोनों आँखे बंद थी और हॉट काप् रहे थे उस वक़्त चाची सेक्स की देवी लग रही थी खुले बल लाल हॉट गोरा रंग लाल ब्रा में केद् बूब्स जिनके निपल नेट ब्रा में साफ दिख रहे थे आप सोच सकते है मेरी क्या हालत रही होगी मेने चाची के काप्ते हॉट पर अपने हॉट रख दिए और किस्स् करने लगा कुछ देर बाद चाची भी साथ देने लगी हम दोनों एक दूसरे की बहो में समां गए मेरे दोनों हाथ उनकी पीठ पर चल रहे थे कुछ देर बाद मेने चाची की गानड को दबाना सुरु कर दिया मेरे हाथो में चाची की मोटी गन्ड नहीं आ रही थीं चाची कि गान्द् बहुत मुलय्म् थी बहुत मजा आ रहा था….

ये सब हम बाथरूम में ही कर रहे थे चाची ने अपनी जीभ मेरे महु में दाल दी और मेने चाची की जीभ को चूसना सुरु कर दिया और चाची के बूब्स ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगा जिसे चाची जोर जोर से सास लेने लगी बहुत देर लिप लोक के बाद मैं चाची की गर्द्न् और कंधो पर आया और खूब चूमा फिर चाची के बूब्स पर टूट पड़ा और ब्रा के ऊपर से ही एक बूब्स को चूसने लगा और एक बूब को हाथ से दबाने लगा चाची अपने हाथ से मेरे सर को अपने बूब्स पर दबा रही थी और मोनिग् कर रही थी मैं अपने हाथ चाची की पीठ पर ले गया और ब्रा को खोल दिया ब्रा को खोला पाकर चाची ने ब्रा को उतर फेका अब दोनों बूब्स मेरे सामने नागे थे जिन पर निपल पुरे तने हुए थे …

मेने पुरे जोरो से दोनों बूब्स को बरी बरी से चुसा जिसे चाची के दोनों बूब्स पर मेरे दांतो के निसान् पाड गए जो साफ दिख रहे थे जब में चाची के बूब्स से अलग हुआ तो चाची ने मेरी टीशर्त् को निकाल् दिया और मेरी छाती पर चुम्ने लगी चाची पुरे जोस् में चुम रही थी अब मेरा रुकना बहुत कठिन था तो मेने चाची के पेतिकोत् का नाडा खोल दिया जिसे पेतिकोत् निचे निकल गया और चाची रेड नेट पैंटी में रह गई चाची की मोती गन्द् मोती मोती जाघ् जो बिलकुल चिकनी थी और बहुत सेक्सी लग रही थी मैं वही बैठ गया और चाची की चिकनी जांघो को चुम्ने चाटने लगा चाची को घोम् जाने को कहा जिसे चाची की गन्द् मेरी फेस के सामने थी जिस की सोभा रेड नेट पैंटी से बढ़ रही थी…

मेने मुह से पैंटी को निचे खींच कर निकल दिया और अपने दन्त चाची की मोटी गन्द् पर दबा दिए जिसे चाची को दर हुआ और मेरी ओर देख कर ना में गर्द्न् हिलाइ तो मेने काट ने की जगह चूमने सुरु कर दिया और चाची को पालट कर अपना महु चुत् में दे दिया और चुत् को चूसने लगा चची ने अपना एक पैर उठा कर थोड़ा ऊपर कर लिया जिसे चाची की चुत थोड़ी खुल गए और साफ दिख ने लगी मेने अपनी एक ऊँगली चुत् में देदि और आगे पीछे करने लगा चाची ने अपना हाथ मेरे सर पर रख कर मेरा म्हु अपनी चुत् के ऊपर लगा दिया अब मैं चुत को चाट भी रहा था और ऊँगली भी कर रहा था जिस कारन चाची जल्दी झाड़ गई और काप्ने लगी चाची की चुत् से चिप चिपा पानी निकल गया जिसे मैंने चाट कर साफ कर दिया थोदो देर बाद में उठा और चाची को किस्स् किआ और गोद में उठा कर बिस्तर पर ले आया जब चाची को बिस्तर पर लेटा दिया…

मेने पास में ही मेज् पर बॉडी लोसन रखा देखा जिसे मैं उठा लाया मेरे हाथ में बॉडी लोसन् देख कर चाची के फेस पर मुस्कान आगए चाची समझ् गए थी कि उनकी बॉडी मसाज होने वाली है मैं अपने शॉट उतर कर सिर्फ एक जोकेय वी सेफ फ्रन्चि में चाची के पास बिस्तर पर आगया मेरी फ्रेन्चि में तम्बू बना देख चाची ने एक कातिल मुस्कान दी जैसे वो बहुत खुश हो मेने लोसन् को बोतल से निकल कर चाची के दोनों बूब्स पर डाला कुछ पेट पर डाला और अपने हाथ से बूब्स की मसाज करने लगा जिसे चाची फिर से गरम होने लगी..

ऐसे ही मेने चाची की पूरी बॉडी की मसाज की अब चाची फिर से रेडी थी सेक्स के लिए जब मसाज् ख्त्म् हुई तो चाची ने मेरी जोकेय् फ्रेन्छि को निकल दिया और लोडा अपनी मुठी में पकड़ लिए मेरे लोडे को देख कर चाची बोली बहुत बड़ा और टाईट है तो मेने कहा इसे अपने मुह में लेकर प्यार करो तो चाची ने झाट से मुह में लेकर चुस्ना सुरु कर दिया चाची जाम कर चुस रही थी मुझे लगा मेरा निकल न जाय इसलिए मैंने चाची को 69 पोजिसन में आने कहा मैं निचे और चाची ऊपर थी अब में चाची की चुत चूस रहा था और चाची जी मेरा लोडा पुरे अंदर तक लेकर चुस रही थी ऐसे कुछ देर मजे करने के बाद चाची को उठने के बोला तो चाची मेरे ऊपर से उठ गई मेने चाची से कोनडोम पूछा तो चाची ने कहा आल्मरि में रखा है लेकिन उसकी कोई जरुरत नहीं है उसे लगा कर मजा नहीं आता ऐसे ही करो तब मैं बोला कुछ होगया तो इस पर चाची बोली क्या होगा बाच्चा ही तो होगा होने दो क्या प्रॉब्लम है किसे पता होगा तेरा है या चाचा का और अब मैं तुम से एक बेबी चाहती हु अपनी मलाई मेरे अंदर ही छोड़ना ये सुनकर मैं खुश हो गया और मेने चाची की गानड के निचे एक तकिया लगाया जिसे चुत् ऊपर की और खुल गई मेने चाची की दोनों टंगे अपने कन्धे पर राखी और लोडा चाची की चुत् में दाल दिया..

चाची की चुत गरम म्ह्सुस हुई मेरा लोडा चुत में आगे पीछे होना सुरु हो गया चाची भी निचे से अपनी गान्ड उठा कर मेरा पूरा साथ दे रही थी कुछ देर ऐसे ही सेक्स चालता रहा तो एकदम से चाची ने मुझे तेज़ बहो में जकड लिया चाची दूसरी बार झाड़ गई थी मुझे चाची का गरम पानी अपने लोडे पर म्ह्सुस् हो गया था चाची जब पूरी तहर है झाड़ कर संतुष्ट हो गई तब मेने चुत से लोडा बहार निकला मैं चाची को फिर से गरम करने लगा चाची के ऊपर लेट कर उनको किस्स्स करने लगा और बूब्स को दबाने लगा जिसे चाची कुछ देर बाद फिर से सेक्स के लिए रेडी थी…

इस बार चाची ने कहा अनिल मैं तेरे ऊपर राहु गई मैं खुश होगया और निचे लेट गया चाची मेरे ऊपर आ गई और मेरा लोडा पकड़ कर उसे अपनी चुत पर लगा कर उस पर बैठ गई और पूरा लोडा अंदर ले गई और एक हां भरी ये देख कर मेने निचे से धहका लगाया लेकिन् चाची ने असा करने को मूझे ना बोल दी और कहा मुझे इसे अपने अंदर फिल करने दो बहुत आछा लग रहा है और मेरे दोनों हाथ अपने दोनों बूब्स पर रख लिए , मैं भी पुरे जोस के साथ बूब्स को दबाने लगा जिसे चाची जी और गर्म हो गई और खुद ही मेरे लोडे पर कूदने लगी…

चाची को कोद्त देख मैं भी निचे से धक्के लगा ने लगा कुछ देर बाद में मने चाची को डौगी इसटाइल में आने को कहा तो चाची जी उतर कर अपनी गानड उठा कर सर निचे कर अपने घुटनो पर आ गई मैं उठ कर चाची के पीछे आगया और अपने लाड को चाची की चुत पर फिट कर अंदर उतार दिया और तबा तोड़ चुधाइ सुरु कर दी अब चाची तीसरी बार झड़ने लगी और चाची के पानी की गर्मी को इस बार मेरा लोडा बर्दास्त नहीं कर पाया और मेरा भी पानी छूट गया और पूरा पानी मेने चाची की चुत में छोड़ दिया और चाची के ऊपर लेट गया..

तब चाची ने कहा केसा लगा मेरे नई पति अपनी चाची को चौध कर मेने चाची के कंधे को चुम कर कहा बहुत अच्छा लगा चाची जी तो चाची बोली अब अकेले में चाची नहीं पूजा कहा करो प्ल्ज़् मेने कहा ओके जान और हम दोनों ऐसे ही नागे सो गए उस रात के बाद मेने चाची को बहुत चौधा और अब तक हम दोनों सेक्स के मजे ले रहे हे चाची को एक बेटा और हुआ जो मेरा है मेरे बिज से हुआ है तो ये थी मेरी चाची को सेक्स सुख देने की कहानी।

নতুন ভিডিও গল্প!


Comments