मेरी विधवा भाभी की वासना शांत किया बड़ी मुश्किल से

December 22, 2020 | By admin | Filed in: Girlfriend.

विधवा भाभी की  की कहानी (Vidhwa Bhabhi ) आज मैं आपको सुना रहा हूँ। ये मेरी सच्ची कहानी है। आज मैं आपको नॉनवेज स्टोरी पर ये  आपके लिए पेश कर रहा हु। कोई औरत होती है जिसको सेक्स में ज्यादा रूचि नहीं होता है सिर्फ पति को खुश करने के लिए टाँगे फैला देती है और जब उसका पति उसे चोद देता है तो वो पेंटी पहन कर या तो सो जाती है या मोबाइल चलाने लगती है।

पर मेरी विधवा भाभी का चक्कर जब से मेरे से चला है। तब से मैं उनकी वासना को शांत नहीं कर पा रहा था चाहे कितना भी मैंने टेबलेट सेक्स पावर बढ़ने के लिए खा लिया हो। मैं उनको चुदाई में खुश नहीं कर पाया। पर आज मैं उनको खुश कर दिया हूँ एक बार नहीं दो बार।

पहले तो आपको अपने बारे में बता देता हूँ और मेरी सेक्सी भाभी के बारे में। मेरा नाम विनय है और मेरी भाभी का शोभा है। एक साल पहले भैया नहीं रहे। भाभी को एक छोटी सी बेटी है मात्र डेढ़ साल की। अब आप समझ ही गए होंगे भाभी की उम्र कितनी है? वो मात्र चौबीस साल की है। घर में मम्मी पापा हैं और मैं हूँ। मैं अभी पढाई कर रहा हूँ।

जब से भैया नहीं रहे तक से ही भाभी के कमरे में मेरी माँ सोती थी। पर ठंढ के कारण पापा का तबियत ठीक नहीं रहता है इसलिए माँ अब निचे फ्लोर पर पापा जी के कमरे में ही सोती है। पर भाभी को डर लगता है इसलिए मैं अब उनके कमरे में अलग बेड पर सोता हूँ।

एक दिन मैं नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर कहानी पढ़ रहा था। रात ज्यादा हो गयी थी। पर भाभी जगी थी। और वो हिल रही थी रजाई में। मुझे लगा की पता नहीं क्या हो गया है। ऐसा क्यों कर रही थी। पांच मिनट बाद फिर देखा तो वो और भी ज्यादा हिलने लगी और कराहने लगी। मैं डर गया मैं मम्मी को ही बुलाने वाला था तभी लगा एक बार देख लेता हूँ आखिर ऐसा क्यों कर रही है।

इसके बाद जरूर पढ़ें  जवान भतीजी की रसीली चूचियां मसल मसल कर चुदाई की

मैं उनके पास पहुंच कर रजाई हटाया। तो सन्न रह गया भाभी अपना ऊपर का कपडा खोली हुई थी। सिर्फ निचे पजामा पहनी थी। मोबाइल पर सेक्स मोवी देख रही थी। और चूचियाँ खुद से ही मसल रही थी। उनकी आँखे लाल लाल हो गयी थी बाल बिखरे हुए थे। तभी उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया।

मैं सब समझ गया थे क्या कर रही थी मेरी भाभी। वो मास्टरबेट कर रही थी यानी हस्थमैथुन। अपनी वासना को कम करने के लिए जैसा हम लोग लंड को हिलाकर वीर्य निकाल देते हैं वैसा ही महिलायें और लड़कियां अपनी चूचियां दबाते हुए अपनी चुत में ऊँगली डालती है।

भाभी जैसे ही मेरा हाथ पकड़ी मेरे अंदर का शैतान जाग गया। क्यों की उनकी बड़ी बड़ी गोरी चूचियां पिंक निप्पल बिखरे हुए बाल कजरारे आँख. गदराई हुई बदन कोई भी डोल जाएगा और अंदर की वासना जाग उठेगी। मेरे साथ भी ऐसा ही हुआ।

यानी की फल से लड़ा पेड़ और खाने वाले भैया अब है ही नहीं। तो फल ख़राब हो इससे अच्छा की कोई खा ले यही सोचकर मैं अपना होठ उनके होठ पर रख दिया और अपना हाथ उनके चूचियों पर रखा तभी वो अपना दांत अपने होठ पर रख कर होठ को एक कोने से काटने लगी और अंगड़ाई लेने लगी।

ओह्ह्ह्हह क्या दृश्य था दोस्तों। मैं तुरंत ही उनके गाल पर किस कर लिया और हाथ पकड़ पर अपने बेड के तरफ आने का इशारा किया। क्यों उनके बैड पर बेटी सोई थी उठ जाती तो दोनों का काम खराब हो जाता। वो भी तुरंत ही मेरे बेड पर आ गयी। मैं तुरंत ही उनके ऊपर लेट गया। पर मुझे क्या पता मैं भूखी शेरनी के मुँह में चला गया। मैं किश करने लगा तभी तो मुझे बाहों में भर ली।

मैं जो भी कर रहा था उससे वो दस गुना ज्याद कर रही थी। मैं फ़ैल हो रहा था। वो मेरे होठ को चूसने लगी जैसे मेरा यह गन्ने का टुकड़ा हो। मैं उनकी चूचियां दबाने लगा तो वो और भी कामुक हो गयी। सी सी सी ओह्ह्ह उफ्फ्फ उफ़ उफ़ आउच करके मेरे मुँह में जीभ डालती हुई मेरे जिस्म को अपने जिस्म से सटा रही थी।

इसके बाद जरूर पढ़ें  होम ट्युसन सेक्स : मेरे चारो स्टूडेंट मुझे रोज चोदता है

मैं चूचियां मुँह में ले लिया तो वो अपना चूची पकड़ कर पिलाने लगी। कहने लगी तुम्हे तो कुछ भी नहीं आता है और जोर से चुसो। मैं जितने जोर से चूस रही थी पर वो कह रही थी ऐसे नहीं ऐसे चुसो। ऐसे दबाओ। ऐसे छुओ मेरे जिस्म को।

और वो मेरा लंड पकड़ ली, अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. अंदर तक ले जाती थी फिर बाहर अंदर तक ले जाती फिर बाहर, और मुझे बड़ी बड़ी आँखे करके देखती और फिर अंदर ले जाती और भी थूक से भीगा कर बाहर करती। दोस्तों मेरा लंड मोटा और लम्बा हो चुका था। उन्होंने कहा अब मुझे चोदो मैं प्यासी हूँ भूखी हु सेक्स की।

और वो लेट गयी. मैं उनके ऊपर चढ़ गया। सच पूछिए तो मैं कुछ नहीं कर रहा था वो कर रही थी। जैसे जैसे वो कह रही थी वैसे वैसे ही मैं कर रहा था। मैं ऊपर चढ़ा उन्होंने पैर को अलग अलग कर के मेरे लंड को पकड़ कर चूत पर सेट कर ली। मैं दो सेकंड लेट क्या हुआ उन्होंने कहा देख क्या रहे हो बाद में देख लेना ठोंको मुझे। पेले जल्दी जल्दी। और मैं तुरंत ही धक्के दिया और जोर जोर से पेलने लगा.

आह आह आह ओह्ह्ह ओह्ह्ह उफ्फ्फ की आवाज आने लगी। पर हरेक 30 सेकंड में और जोर से और जोर से मुझे कुछ नहीं हो रहा है। मेरा नौ इंच का लंड और मोटा करीब ३ इंच उनको कुछ भी नहीं लगा रहा था। मैं और जोर जोर से लेने लगा। पर वो और जोर से और जोर से। क्या कर रहे हो? चोदना नहीं आता है। मुझे कुछ भी नहीं हो रहा है।

और वो घुमाने लगी आपने चूतड़ को और निचे से धक्के देने लगी बिजली की तरह। और मुझे अपने जिस्म में लिपटा ली। और दांत पीस रही थी और निचे से धक्के दे रहे थी। ऊपर से मैं दे रहा था। जोर जोर से पर वो इतनी विचलित हो रही थी हिल रही थी। गुस्सा कर रही थी।

इसके बाद जरूर पढ़ें  खूबसरत पड़ोस वाली भाभी की चुदाई 2

मैं चूचियां दबाने लगा तो बोली चुत पर ध्यान दो जोर से पेलो, चोदो मुझे। दोस्तों मैं सच बता रहा हूँ मैं झड़ने वाला होने लगा पर उनमे आग बढ़ती ही जा रही थी। मैं क्या करता। मैं रोक नहीं पा रहा था अपने आप को और मेरा सारा माल गिर गया। और वो वैसे ही गांड घुमा रही थी। जैसे ही उनको एहसास हुआ की मेरा सारा माल गिर गया।

वो मुझे बोली चूतिया हो क्या। पूछ तो लेते गिराऊँ की नहीं अपने मर्जी से गिरा दिया। दूसरे दिन मैं एक इंसान से मिलने गया वो एक पहलवान है और सत्तर साल में भी जवान दीखते हैं। उनसे मिला और बोला मेरी एक गिरफरैंड है उसको मैं खुश नहीं कर पा रहा हूँ क्या करूँ। चुदाई के वक्त वो हावी हो जाती है।

उन्होंने मुझे टिप्स बताया। और उसी टिप्स को मैं दूसरे दिन अपने भाभी पर आजमाया। फिर वो वो बाप बाप बोलने लगी। कहने लगी कल तो कुछ और थे आज कुछ और कहा से सीखे हो और कैसे आ गयी इतनी ताकत। फिर दोस्तों वो तीन बार झड़ गयी पर मैं नहीं झडा। मैं उनकी वासना की आग को बुझा दिया दूसरी रात. ये कहानी मैं कल आपके लिए लिखूंगा। कल जरूर आइये पढ़ने नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर कल पार्ट २ होगा।

Vidhwa Bhabhi Sex Story, Bhabhi ko santusht kiya, sex me santusht ladki ko aurat ko kaise karen janiye.

নতুন ভিডিও গল্প!


Tags: , , , , , ,

Comments