प्रिंसिपल मैडम की चिकनी चूत- 2

| By admin | Filed in: देवर भाभी सेक्स.

हॉट मैडम सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मुझसे चुदकर उन्हें मजा आया. फिर उन्होंने एक फ्लैट किराये पर लिया सिर्फ चुदाई के लिए. हमने वहां पर कैसे सेक्स का मजा लिया?

दोस्तो, कैसे हो आप? उम्मीद करता हूं कि आप सभी ठीक होंगे। मैं हरजिंदर सिंह एक बार फिर से आप सभी का अन्तर्वासना पर स्वागत करता हूँ।

दोस्तो, मैंने अपनी हॉट मैडम सेक्स स्टोरी के पिछले भाग
प्रिंसिपल मैडम ने घर बुला कर चूत चुदवाई
में आपको बताया था कि प्रिंसिपल मैडम को अपनी क्लासमेट की चुदाई की बात मुझे बतानी पड़ी और फिर वो मुझसे अपने घर में ही चुद गयी.

आपने जाना कि कैसे मैडम ने मुझसे अपनी चुत चुदवाई और हमने एक दो रूम का सैट किराये पर ले लिया.

अब मैं आपका अधिक समय न लेते हुए हॉट मैडम सेक्स स्टोरी को आगे बढ़ा रहा हूं.

मैडम की चुदाई के बाद अब मेरा और मेरी प्रिंसिपल मैडम का रिश्ता टीचर-स्टूडेंट का कम और फ्रेंड्स वाला ज्यादा हो गया था।

कुछ दिन बाद मैडम ने मुझे अपने केबिन में बुलाया और बोली- आज हम नए रूम में चलेंगे।
मैंने मैडम का ऑफर मान लिया और हामी भर दी।

स्कूल की छुट्टी के बाद मैं उस किराये वाले घर में पहुंच गया।
मैडम मेरे से पहले ही वहां पहुंच चुकी थी। वो आज लाइट पिंक कलर की साड़ी पहने हुए थी। उन्होंने हल्के गुलाबी कलर की ही लिपस्टिक लगा रखी थी।

वहां पहुंच कर मैंने लॉबी में ही मैडम को पकड़ा और अपने होंठ मैडम के होंठों से सटा दिए।
मैडम भी मुझे बांहों में कसकर मेरा साथ देने लगी।

हमारी किस 10 मिनट लंबी चली होगी।

फिर मैडम ने मुझे छोड़ा और किचन में चली गई।
मैडम बाजार से बनाना शेक लेकर आई थी. वो दो गिलास में बनाना शेक लेकर आ गई और हमने बनाना शेक पी लिया।

फिर मैं और मैडम बेडरूम में आ गए.

अभी मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था तो मैं अपनी शर्ट के बटन खोलने लगा।
मुझे देखकर मैडम ने भी साड़ी और ब्लाउज उतार दिया.

वो पिंक कलर की जालीदार ब्रा और पैंटी पहने हुए थी. मैंने भी अपने सारे कपड़े निकल दिये।

मैंने मैडम को पकड़ा और बेड पर गिरा दिया।
मैं मैडम के ऊपर लेट गया. मैं उनको कभी गालों पर, कभी होंठों पर और कभी गले पर किस करने लगा।

वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी। वो हाथ से मेरा लन्ड पकड़ कर लन्ड को हिलाने लगी।

मैंने मैडम को उठाया और उनकी ब्रा पैंटी उतार दी।
हम दोनों जन्मजात नंगे हो चुके थे।

मैडम फिर से लेट गई और मैं मैडम के मस्त कबूतरों को चूसने काटने लगा।
वो मस्ती में आहें भरने लगी। वो अपने एक हाथ में मेरा लन्ड पकड़ कर हिलाने लगी और दूसरे से अपना एक कबूतर पकड़ कर सहलाने लगी।

मैं उनकी चूत को रगड़ने लगा. वो भी मेरे अंडकोष पकड़ कर दबाने लगी।

मैंने उनकी चूत में दो उंगली एक साथ डाल दीं।
वो चिहुंक उठी।
मैंने उंगली अंदर बाहर करना चालू किया।

वो भी अपनी गांड ऊपर नीचे करते हुए मेरा साथ देने लगी.

फिर मैंने उनके बूब्स छोड़े और उनकी टाँगों के बीच में बैठ गया।
मैंने अपनी उंगली उनकी चूत से निकाल ली और अपने दोनों हाथों से उनकी चूत को फैलाकर देखने लगा।
उनकी चूत अंदर से डार्क पिंक कलर की थी।

मैं झुका और अपनी जीभ उनकी खुली चूत में डाल दी।
मैंने अपनी जीभ से उनकी चूत को कुरेदना शुरू किया तो वो पूरी मस्ती में आ गई।
वो गांड उठा कर मेरा साथ देने लगी।

मैंने पूरी अंदर तक उनकी चूत को चाटना चालू रखा।
जल्दी ही उनकी चूत ने पानी छोड़ना चालू कर दिया।

फिर वो मुझे 69 में आने को बोली।
अब मैं उनकी साइड में इस तरह लेट गया कि उनकी चूत मेरे मुंह के पास थी और मेरा लन्ड उनके मुँह के पास।

वो भूखी शेरनी की तरह लन्ड पर टूट पड़ी। वो पूरा लन्ड मुँह में ले रही थी और एक हाथ से मेरे अंडकोष सहला रही थी।

मुझे इतना अच्छा लग रहा था कि मैं शब्दों में बयान नहीं कर सकता।

मैंने मैडम की चूत के दाने को मुंह में लिया और हल्का दांत से काट दिया।

मैडम इस अचानक हुए हमले के लिये वो तैयार नहीं थी; उन्होंने मेरा लन्ड मुंह से निकाल कर कहा- साले यह क्या कर रहा है?

मैडम के मुंह से मैंने पहली बार गाली सुनी थी। मैडम के गाली निकालने पर मुझे गुस्सा आ गया और मैंने मैडम की चूत के दाने को थोड़ी और ज़ोर से काटना शुरू कर दिया।

थोड़ी देर बाद मैंने मैडम की चूत के दाने को जीभ से रगड़ना करना चालू किया।

मैडम फिर से मेरे लन्ड को मुंह में लेकर आगे पीछे करने लगी।

मैं अभी पूरी मस्ती से मैडम की चूत चाटने में लगा हुआ था.
मैडम भी पूरी मस्ती में मेरा लन्ड मुंह में ले रही थी।

मैंने पूरी जीभ उनकी चूत में घुसा दी और उनकी चूत को जीभ से ही चोदने लगा।
लगभग 15 मिनट बाद मेरे लन्ड ने और मैडम की चूत ने एक साथ पानी छोड़ दिया।

मैंने मैडम की चूत पर से अपना मुंह हटा लिया और उनकी चूत को पानी छोड़ते देखने लगा.
उनकी चूत का मुंह कभी खुल जाता था, कभी बंद हो जाता था और साथ में सफेद रंग का उनका चूत रस निकलता रहा।

उधर मैडम ने मेरे लन्ड को तब तक नहीं छोड़ा जब तक कि वो वीर्य की आखिरी बूंद तक नहीं पी गई।

उन्होंने मेरे वीर्य की एक बूंद तक भी वेस्ट नहीं की। वो मेरा पूरा वीर्य निगल गई।

अब उन्होंने अपने पर्स से टिशू पेपर निकाल कर अपनी चूत और मेरे लन्ड को साफ कर दिया।

उन्होंने अपने पर्स से कॉन्डोम के पैकेट निकाल कर साइड में रख लिए.

हम फिर से बेड पर लेट गये और एक दूसरे को किस करने लगे।

थोड़ी देर बाद मैडम उठी और मेरे लन्ड को मुंह में ले लिया। मैंने भी मैडम की चूत में उंगली डाल दी और आगे पीछे करने लगा।

मेरा लन्ड जब पूरा टाइट हो गया तो मैडम ने एक कॉन्डोम का पैकेट लिया और कॉन्डोम खोल कर मेरे लन्ड पर चढ़ा दिया।
वो बेड पर टाँगें फैलाकर लेट गई और मैं उनकी टांगों के बीच में बैठ गया।

मैंने उनकी टांगों को अपने कंधे पर रखा और अपना लन्ड उनकी चूत के मुंह पर रख कर एक झटके में पूरा लन्ड मैडम की चूत में उतार दिया। मैंने लन्ड आगे पीछे हिलाना चालू कर दिया.

वो भी मेरा साथ देने लगी। जब भी मैं मैडम की चूत में लन्ड डालता तो मैडम भी अपनी गांड ऊपर उठा

নতুন ভিডিও গল্প!


Tags: , , ,

Comments